Wednesday, November 16, 2011

आज का सन्देश (Wednesday, 16th November, 2011)


·           
  • प्यार कभी इच्छा से नहीं मिलता.
  • किसी को प्यार से शांति मिलती है, किसी को शांति से प्यार मिलता है. इसे समझने की जरूरत है. जो नियम व् कानून से चलता है, प्यार उसे स्वत: ही मिल जाता है.
  • प्यार मे थोड़ी भी मनमर्जी चलाई, ये मिल नहीं पाता है. मै भी सच्चाई मे रहूँ, प्यार अपने आप खिंचा चला आएगा. अगर मेरे अन्दर दूसरे के लिए प्यार नहीं है, आपको सच्चा मान, प्यार कैसे मिलेगा.
  • प्यार की गहराई मे जाओ. प्यार मे निर्विकारी, नीर-अहंकारी व् निरन-कार बनो, ये खूब मिलेगा.
  • अपनी LIFE म़े JUMP के साथ न चलो, क्यों की वापिसी तो सीडीयों STAIRS से ही करनी है. प्यार मे JUMPS भी हमे साक्षर से निरक्षर ILLITERATE बना देंगे. जितना सीधा चलोगे, उतना LIFE मे तरक्की करोगे.
माया जीते, जगत जीत, झूडी माया, झूडा सब संसार, इसे समझना है, तभी प्यार मे पार पाएंगे, यही हमारी सभ्यता है.
  • अपनी विशेषताओं को प्रयोग  मे लाओ, तो हर कदम मे प्रगति का अनुभव करेंगे.    
   

1 comment:

सदा said...

बेहतरीन प्रस्‍तुति ।