Thursday, November 24, 2011

आज का सन्देश, 24 .11 .2011


  • अगर कोई गलत व्यव्हार करता है, आप भी ऐसा कर बदला लेंगे, तो क्या फर्क रहा दो इंसानों को मध्य. चीनू, मीनू, टीनू, चाँद हाँ भाई सभी, अच्छा है छोड़ दे उसका साथ, या सुधार दे उसे. 
  • आप अपनी तक़दीर को दूसरे के साथ COMPARE न करें. हाय, मेरी तक़दीर ही ख़राब है, ऐसा कह कर आप अपनी चमकती तक़दीर को धोखा दे रहें है. पढाई कर तक़दीर को श्रेष्ठ बनाए.
  • जो कर्म मै करूंगा, वो कर्म सभी करेंगे, जब अच्छे, सुंदर कर्म करेंगे, निर्माण होगा, वर्ना अपने कर्मों से आपका व विनाश तय है.
  • कभी कोई भी पाप-कर्म नहीं करें, --- तक़दीर जग जाएगी. हमारी आत्मा तक़दीर बना कर आई है, ताकि हम नई दुनिया का निर्माण कर सकें.
  • तक़दीर बनेगी, उतनी, जितना पुरुषार्थ किया है. अपनी आत्मा को सोने की तरह तपाओ, वो PURE बनेगी, GOLD  की तरह SHINE करेगी.
  • जो अच्छा पुरुषार्थ करेगा, KING और QUEEN बनेगा. KING बनेगा, वरना तो, दुनिया मे आम-जनता, गरीब भी कम नहीं है.   मेहनत कर, पुरुषार्थी बने.
  • किसी की LIFE  मे पूर्णमासी नहीं बन सकते, तो उसकी LIFE अमावस की तरह अँधेरी न बनाओ. जो अच्छी शिक्षा-रीति सीखेगें, वाही FULL MOON बनेगें. उसे PARADISE नसीब होगा जीवन मे.
  • अच्छी रीति धारण करनी है, पवित्र बनो.
  • BUSINESS के झूठ को क्यों जीवन मे उतार लिया है. अब हर चीज मे झूठ बोलतें है, तो झूठी शिक्षा ही ग्रहण करोगे चाहे Ph .D की DEGREE मिल जाये.

शिक्षा के साथ योग को जोड़ें. अच्छा मनुष्य बनने के लिए जितनी आसुरी स्वभाव, झूठ बोलने की आदतों  का त्याग करना है, देवीय स्वरूप धारण करना है.
  • माया के तूफानों मे भी कर्म-इन्द्रियों से विकर्म न करें. अपने अलौकिक  जीवन की याद मे रहकर पुरुषोतम बन.   
                                                                                                    मुसाफिर  क्या  बेईमान 

2 comments:

केवल राम : said...

जो कर्म मै करूंगा, वो कर्म सभी करेंगे, जब अच्छे, सुंदर कर्म करेंगे, निर्माण होगा, वर्ना अपने कर्मों से आपका व विनाश तय है.


सत्य वचन ...!

Amrita Tanmay said...

सार्थक है .